Home आपका शहर KANPUR : मौत के साये में रहने को मजबूर रखवाले

KANPUR : मौत के साये में रहने को मजबूर रखवाले

SHARE

कानपुर : समाज की सुरक्षा और उनकी जान माल की रक्षा की ज़िम्मेदारी लेने वाले अगर खुद की सुरक्षा के लिए दर-दर भटकेंगे तो आम आदमी की सुरक्षा का दावा कैसे पुख्ता हो सकता है। पुलिस महकमा लोगो की सुरक्षा की बात तो करता है पर अपने महकमे के मातहतों की सुरक्षा की जिम्मेदारियों से मुँह मोड़ रहा है। ताज़ा मामला छावनी थानाक्षेत्र के ओल्ड पुलिस कॉलोनी में रहने वाले विनोद कुमार का है। विनोद कुमार यादव यातायात पुलिस लाइन में मुख्य आरक्षी पद पर तैनात हैं। विनोद उक्त आवास पर 13 वर्षो से निवास कर रहे है। कॉलोनी की स्थिति जर्जर होने पर उन्होंने अपने आलाधिकारियों को अवगत कराया पर मामले में सिर्फ खानापूरी हुई। विनोद के मुताबिक नौ महीने पूर्व उन्होंने जर्जर आवास की मरम्मत के लिए विभाग को पत्र लिखा था जिसमे उन्होंने कॉलोनी की मरम्मत करने या उन्हें दूसरी जगह शिफ्ट करने की बात की थी। उस पत्र को आलाधिकारियों ने संज्ञान में नही लिया। विनोद ने जब इसकी जानकारी विभाग से की तो उन्हें सिर्फ आश्वासन ही मिला। विनोद ने बताया कि उन्होंने विभाग को मौखिक और लिखित तौर पर कई बार सूचना दी, पर हर बार उन्हें कोरा आश्वासन ही दिया जाता है। ऐसे में अगर जर्जर कॉलोनी में कोई अप्रिय घटना हो जाती है तो इसकी जिम्मेदारी कौन लेगा।

LEAVE A REPLY