Home उत्तर प्रदेश मथुरा में भगवान श्री कृष्ण कि प्रियतमा राधा रानी के जन्मोत्सव की...

मथुरा में भगवान श्री कृष्ण कि प्रियतमा राधा रानी के जन्मोत्सव की धूम

SHARE

भगवान श्री कृष्ण कि प्रियतमा राधा रानी के जन्मोत्सव की धूम बैसे तो सारे देश में मची हुई हैं पर इसका असली रूप तो देखने को मिलता हैं राधा रांनी के गाव बरसाने में जहा पर  रात को मनाया गया राधा रानी का जन्मोत्सव और दूध दही शहद गंगाजल आदि से किया गया अभिषेक और इस अलोकिक नजारे के लाखो भक्तो ने किये दर्शन अपने दुख दूर करने को और अपनी हर मनोकामना पुरी करने के लिये किये तथा खूब लगाये राधा रानी के जयकारे  बरसाने में उस  समय लग रहा था  की  हकीकत में आज हुआ हैं राधा रानी का जन्म यहा पर आये देश विदेश से आये लाखों भक्त खूब लूट रहे है उपहार और जमकर उठाया भजनों  का आनंद ////मंदिर में लगी भीड़ ओर उसपर जोर जोर से लगने वाले राधा रानी के जय कारे तथा सोलह श्रंगार करके अपने अपने घरों से आई ये सखिया नाच गा रही है ब्रज की लाडली के जन्मोत्सव के मौके प़र ओर ये सब हो रहा है बरसाने के श्री जी मंदिर जहाँ प़र आज रात को मनाया गया है राधा रानी का जन्मोत्सव/ मथुरा से लगभग 50 किलोमीटर दूर बसा हैं वृषभान का बरसाना गाव जहां पर आज मनाया गया  है राधा रानी का जन्मोत्सव क्योकी आज ही के दिन लगभग 5000 साल पूर्व जन्मी थी राधा रानी.. मथुरा के बरसाना में आज भी मनाया जाता हैं जन्मोत्सव // यह उत्सव मनाया जाता हैं वृषभान दुलारी के उस विशाल मंदिर में जो पहाडो पर बना हैं .इस मंदिर को भव्य रूप से सजाया जाता हैं इस अवसर पर सिर्फ राधा रानी का ही नाम चारो ओर सुनाई देता हैं और मंदिर में रात भर भक्तो द्वारा नाच गाना किया जाता हैं इसमे कलाकारो  के कई समूह भाग लेते हैं और फिर होती हैं भज्नो की बरसात और भक्त नाचते गाते हुये लेते हैं राधा रानी के इस पावन पर्व का आनंद मंदिर में भक्तो की भीड को देख कर हर कोई राधा रानी की ऐक झलक पाने को बेकरार नजर आता हैं रात भर मंदिर में जन्मोत्सव की ख़ुशी में बधाई गायन होता है बहीं मंदिर में अबकी वार बड़ा ही मनोहारी रूप से बगंला भी सजाया गया जिसमें देसी और विदेशी फूलों की महक ने पूरे मंदिर परिसर को महका दिया  प्रशासन भी इस मेले की कई दिन पहले से करता हैं तयारी ओर यहा पर किसी अनहोनी ओर सुरक्षा को देखकर काफी मात्रा में सी सी टी बी कैमरों को भी लगाया जाता है बहीं पुलिस बल भी मंदिर के अन्दर और बाहर चप्पे चप्पे प़र नज़र बनाये रखते है । 

LEAVE A REPLY