Home उत्तर प्रदेश कानपुर :गुरु का सम्मान सर्वोपरि

कानपुर :गुरु का सम्मान सर्वोपरि

SHARE

कानपुर : गुरु-शिष्य परंपरा भारत की संस्कृति का एक अहम और पवित्र हिस्सा है। जीवन में माता-पिता का स्थान कभी कोई नहीं ले सकता, क्योंकि माता-पिता ही हमें इस खूबसूरत दुनिया में लाते हैं। इसलिए कहा जाता है कि जीवन के सबसे पहले गुरु हमारे माता-पिता होते हैं। देश में पुराने समय से ही गुरु व शिक्षा परंपरा चली आ रही है, लेकिन जीने का असली मकसद हमें गुरु ही सिखाते हैं व सही मार्ग पर चलने के लिए प्रेरित करते हैं। और हमे सही रास्ता दिखाते हैं।

शिक्षक दिवस के उपलक्ष्य में तहसील नर्वल के ह्र्दयखेड़ा निवासी अध्यापक प्रवीण कुमार को छात्रों ने सम्मानित किया। अध्यापक प्रवीण कुमार ने छात्र-छात्राओं को आशीर्वाद देकर उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की।

LEAVE A REPLY