Home आपका शहर दुर्ग : हेमचंद विश्वविद्यालय की नवनियुक्त, कुलपति डॉ. अरूणा पल्टा ने कार्यभार...

दुर्ग : हेमचंद विश्वविद्यालय की नवनियुक्त, कुलपति डॉ. अरूणा पल्टा ने कार्यभार किया ग्रहण

SHARE

दुर्ग/ हेमचंद यादव विश्वविद्यालय दुर्ग की नई कुलपति डॉ. अरुणा पल्टा ने संभागायुक्त एवं प्रभारी कुलपति दिलीप वासनीकर की उपस्थिति में कार्यभार ग्रहण किया। प्रभारी कुलपति श्री वासनीकर ने उन्हें कार्यभार सौंपा। उन्होंने शुभकामनाएं देते हुए विश्वविद्यालय की गतिविधियों एवं उपलब्धियों से अवगत कराया। इस दौरान डॉ. अरूण पल्टा ने कुलपति के तौर पर अपनी प्राथमिकताओं पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि वह खुद को बहुत भाग्यशाली मानती हैं कि उन्हें एक ऐसी जगह काम करने का मौका मिला है, जो बहुत चुनौती पूर्ण है और जहां काम करने की, कुछ कर दिखाने की और खुद को साबित करने की असीम संभावनाएं हैं। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय की स्थापना को अभी 4 वर्ष पूर्ण हुए हैं, इसलिए बहुत कुछ करना है। उन्होंने कहा कि उनकी पहली प्राथमिकता विद्यार्थी हित में कार्य करना है। विद्यार्थी हमारे सबसे बड़े स्टेक होल्डर हैं और अगर विद्यार्थी संतुष्ट नहीं है तो विश्व विद्यालय अपने कार्यों में सफल नहीं हो सकता। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय के एकेडमिक कैलेण्डर को सुधारना जरूरी है। ताकि प्रवेश प्रक्रिया और पढ़ाई समय रहते पूरी हो सके। परीक्षाएं सही समय पर संचालित हों और विद्यार्थियों को परीक्षा परिणाम समय रहते प्रदान किया जाए। ताकि अगले सत्र में या अन्य किसी कोर्स में उनकी एडमिशन लेने में आसानी हो। उन्होंने कहा कि दूसरी प्राथमिकता विश्वविद्यालय की अधोसंरचना को मजबूत करना है। विभिन्न शैक्षणिक विभाग, शोध सुविधा और क्षेत्रीय आवश्यकताओं को समझते हुए पाठ्यक्रमों की शुरूआत की जाएगी। उन्होंने कहा कि दुर्ग विश्वविद्यालय की खास बात यह है कि यहां विद्यार्थियों के समूह में काफी विविधता है। एक तरफ यहां पढऩे वाले बच्चे ट्रायबल और ग्रामीण वर्ग से भी हैं और दूसरी तरफ बड़ा विद्यार्थी वर्ग शहरी वर्ग से है इस लिहाज से विद्यार्थियों की जरूरत और रूचि के मुताबिक पाठ्यक्रमों की शुरूआत करनी जरूरी है। ताकि विद्यार्थियों को भविष्य में एक अच्छा करियर चुनने में मदद मिल सके। उन्होंने कहा कि उनका जन्म और शिक्षा-दीक्षा छत्तीसगढ़ राज्य में ही हुई है तथा उनका कार्य क्षेत्र भी छत्तीसगढ ही रहा है इसलिए इस प्रदेश के बच्चों की जरूरत को अच्छे से समझती है।
कार्यभार ग्रहण करते ही उन्होंने स्पष्ट निर्देश जारी कर दिए हैं कि सही समय पर रिजल्ट घोषित न हो पाने के जिम्मेदार लोगों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उत्तरपुस्तिका जांचने की जिम्मेदारी जिन प्रोफेसरों को दी गई है यदि वे नियत समय पर जांच पूरी नहीं करते हैं, उनके विरूद्ध नियमानुसार कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने निर्देश दिए कि अक्टूबर में पूरक परीक्षाएं संचालित करने के लिए टाईम टेबल तैयार करें। कुलपति डॉ. अरूणा पल्टा ने गल्र्स कॉलेज दुर्ग में चित्रकला और साईंस कालेज में एम.एस.डब्लू और फूड साइंस के कोर्स की शुरूआत करने के लिए महीनों से लंबित निरीक्षण का काम पूरा कर इन महाविद्यालयों में कोर्स आरंभ करने की प्रक्रिया का निर्देश दिए हैं। इस दौरान अपने अधीनस्थ अधिकारियों और कर्मचारियों से मुलाकात की। उन्होंने कहा कि दुर्ग महाविद्यालय की छवि सुधारने के लिए हम सब को मिलकर दोगुनी ऊर्जा के साथ काम करना होगा। जिसके लिए कर्तव्यनिष्ठा उत्तरदायित्व की भावना होना बहुत जरूरी है। उन्होंने स्पष्ट किया Cकि हमारी सबसे बड़ी जिम्मेदारी विद्यार्थियों के प्रति है। कार्यभार ग्रहण कार्यक्रम में विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार भूपेन्द्र कुलदीप सहित सभी सम्बद्ध महाविद्यालय के प्राचार्य, एवं अन्य अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY