Home आपका शहर महंगी हो सकती है चीनी,जानिए दाम बढ़ने की वजह

महंगी हो सकती है चीनी,जानिए दाम बढ़ने की वजह

महंगी हो सकती है चीनी,जानिए दाम बढ़ने की वज

लखनऊ,। चीनी और महंगी हो सकती है। केन्द्र सरकार ने चीनी का न्यूनतम विक्रय मूल्य बढ़ाने की तैयारी की है। प्रदेश समेत कई अन्य राज्य सरकारों ने केन्द्र से सिफारिश भी की है। अभी देश में चीनी का न्यूनतम समर्थन मूल्य 31 रुपये प्रति किलोग्राम है जिसे बढ़ाकर 33 से 34 रुपये प्रति किलो किया जा सकता है। फिलहाल खुले बाजार में चीनी का थोक भाव 3600 से 3700 रुपये प्रति कुंतल है और फुटकर में चीनी 38 से 40 रुपये किलो तक के भाव बिक रही है। इसके लिए नीति आयोग भी चीनी के न्यूनतम विक्रय मूल्य में बढ़ोतरी की सिफारिश कर चुका है।

हो सकता है बकाये का भुगतान……

प्रमुख सचिव गन्ना विकास संजय आर.भूसरेड्डी ने ‘हिन्दुस्तान’ को बताया कि अगर केन्द्र सरकार चीनी का न्यूनतम विक्रय मूल्य 2 रुपये प्रति किलो भी बढ़ाती है तो भी प्रदेश की चीनी मिलों को करीब 2500 से 3000 करोड़ रुपये की अतिरिक्त आय होगी। जून के पहले सप्ताह में वह स्वयं केन्द्र सरकार से बातचीत में शामिल हुए थे।

क्या है न्यूनतम विक्रय मूल्य….

न्यूनतम विक्रय मूल्य (एमएसपी) वह दर है जिसके नीचे मिलें खुले बाज़ार में चीनी को थोक व्यापारी एवं थोक उपभोक्ता जैसे पेय और बिस्किट निर्माताओं को नहीं बेच सकती हैं। न्यूनतम समर्थन मूल्य वह न्यूनतम मूल्य होता है, जिस पर सरकार किसानों द्वारा बेचे जाने वाले अनाज की पूरी मात्रा खरीदने के लिये तैयार रहती है।