Home आपका शहर चिंतन:अंदर से मजबूत बनो ताकि हर स्थिति का मुस्कुराकर सामना कर सको...

चिंतन:अंदर से मजबूत बनो ताकि हर स्थिति का मुस्कुराकर सामना कर सको ठाकुर संजीव कृष्ण…।

राधे राधे ॥ आज का भगवद चिन्तन ॥
09-07-2020
श्रावण मास शिव तत्व
श्रावण मास में शिवजी को दूध,जल , वेलपत्र अर्पित करते-करते बिचार करें कि शिवजी हर समय प्रसन्न कैसे रहते हैं ? इनके आनन्दमय जीवन का सूत्र क्या है ? ये बड़े भोले हैं और जो भोला है वही दुनिया का नाथ बनने की पात्रता रखता है।
शिवजी ने भीतर से अपने आपको इतना मजबूत, उच्च विचारयुक्त, धीर, गंभीर, सहनशील, धैर्यवान, मान-अपमान मुक्त बना रखा है कि संसार की स्थितियाँ उन्हें बिचलित नहीं कर पाती हैं। शिवजी अपने ह्रदय में केवल राम नाम को रखते हैं , वाकी सब वाहर ही छोड़ देते हैं।
तुम्हें बुरा बोलने वाले तो कमजोर हैं ही लेकिन छोटी-छोटी बातों से विचलित हो जाना, यह आपकी कमजोरी को दर्शाता है। शिवजी अन्तर्मुखी हैं, भीतर स्वयं में स्थित रहते हैं। मजबूत बनो, ताकि हर स्थिति का मुस्कुराकर सामना कर सको

संजीव कृष्ण ठाकुर जी
समर्पण गौशाला, गोवर्धन