Home आपका शहर देश की सबसे बड़ी गैस विपणन कंपनी गेल की नजर अब पेट्रोरसायन,रिन्यूएबल...

देश की सबसे बड़ी गैस विपणन कंपनी गेल की नजर अब पेट्रोरसायन,रिन्यूएबल एनर्जी पर…..

देश की सबसे बड़ी गैस विपणन कंपनी गेल की नजर अब पेट्रोरसायन,रिन्यूएबल एनर्जी पर….

नई दिल्ली,। सार्वजनिक क्षेत्र की गेल इंडिया लि.वृद्धि को गति देने के लिए मुख्य कारोबार प्राकृतिक गैस विपणन और परिवहन के अलावा पेट्रोरसायन,विशेष प्रकार के रसायन और रिन्यूएबल एनर्जी के क्षेत्र में विस्तार पर गौर कर रही है। कंपनी के चेयरमैन मनोज जैन ने बताया कि कंपनी ने प्राथमिकता वाले कारोबार को चिन्हित किए हैं। देश की सबसे बड़ी गैस विपणन और परिवहन कंपनी ने नई रणनीति बनाई है। जैन ने कंपनी की सालाना रिपोर्ट में कहा, ”इस रणनीतिक योजना से हमें बदलते औद्योगिक परिदृश्य में चुनौतियों से पार पाने में मदद मिलेगी और भौगोलिक विस्तार के साथ वृद्धि के लिए नये क्षेत्र मिलेंगे।

कुल गैस परिवहन में 70 प्रतिशत हिस्सेदारी गेल की…..

देश में होने वाले कुल गैस परिवहन में 70 प्रतिशत हिस्सेदारी गेल की है। कंपनी अपने 12,426 किलोमीटर लंबे प्राकृतिक गैस पाइपलाइन नेटवर्क के जरिये गैस का परिवहन करती है। कंपनी देश में कुल प्राकृतिक गैस की बिक्री में 55 प्रतिशत हिस्सा रखती है। कंपनी छोटे स्तर पर पवन और सौर ऊर्जा उत्पादन क्षेत्र में भी है। उन्होंने कहा, ”गैस हमारा महत्वपूर्ण कारोबार बना रहेगा, हम आने वाले वर्षों में नई ऊंचाई पर पहुंचने के लिए पेट्रोरसायन,विशेष प्रकार के रसायन, रिन्यूएबल एनर्जी,जल आदि क्षेत्रों में वृद्धि पर ध्यान दे रहे हैं। गेल ने 2019-20 की अपनी सालाना रिपोर्ट में कहा कि उसने कंपनी को नई ऊंचाई पर ले जाने के लिए ‘रणनीति 2030 बनाई है।

इसमें कहा गया है, ”रणनीति मजबूत कारोबारी पोर्टफोलियो और संगठन ढांचा को ध्यान में रखकर बनाई गई है। हमारा संगठन ढांचा न केवल तेजी से बदलते कारोबारी माहौल में कदम उठाने के लिए पर्याप्त है बल्कि कंपनी की दीर्घकालीन वृद्धि के लिए अवसरों का भी उपयोग करने में सक्षम है। कंपनी ने कहा कि उसकी नियामक द्वारा बिक्री के लिए रखे जाने वाले नई पाइपलाइन में बोली लगाने की योजना है। साथ ही वह राष्ट्रीय गैस ग्रिड के महत्वूपर्ण खंडों में पाइपलाइन बिछाकर गैस ट्रांसमीशन कारोबार में वृद्धि करेगी। राष्ट्रीय गैस ग्रिड के तहत मुख्य रूप से देश के पूर्वी भाग में करीब 7,500 किलोमीटर लाइन बिछाए जा रहे हैं।

हाइवे किनारे एलएनजी स्टेशन लगाने को लेकर बातचीत…..

गेल सिटी गैस लाइसेंस धारकों से भी राष्ट्रीय राजमार्गों के किनारे तरलीकृत प्राकृतिक गैस (एलएनजी) स्टेशन लगाने को लेकर बातचीत कर रही है ताकि लंबी दूरी वाले ट्रकों और बसों को ईंधन की आपूर्ति की जा सके। रिपोर्ट के अनुसार इसके अलावा कंपनी पेट्रोरसायन क्षेत्र में अवसरों को भी टटोलेगी। साथ ही कंपनी देश में कुछ विशेष प्रकार के रसायन क्षेत्र में भी अवसरों का आकलन कर रही है।

सौर पार्क निविदा में भी लेगी हिस्सा…..

गेल ने कहा कि वह भविष्य में वृद्धि की संभावना को देखते हुए रिन्यूएबल एनर्जी क्षेत्र में निवेश करेगी। कंपनी क्षेत्र में काम कर रही कंपनियों की रिन्यूएबल एनर्जी परिसपंत्ति के अधिग्रहण की भी संभावना टटोल रही है। वह सौर बिजली उत्पादक के रूप में सौर पार्क निविदा में भी भाग लेगी। सिटी गैस नेटवर्क विस्तार के अलावा कंपनी नए कारोबार में अवसर टटोलेगी जिसमें आने वाले समय में वृद्धि को गति देने की क्षमता हो।