Home उत्तर प्रदेश अलीगढ़ अलीगढ़:गोण्डा थाने के अंदर भाजपा विधायक से मारपीट मामले में एसओ को...

अलीगढ़:गोण्डा थाने के अंदर भाजपा विधायक से मारपीट मामले में एसओ को क्लीनचिट,सस्पेंशन वापस…..

अलीगढ़,। भाजपा विधायक से थाने के अंदर मारपीट मामले में अलीगढ़ के गोंडा थाने के एसओ को आईजी की रिपोर्ट के बाद शासन स्तर से क्लीनचिट दे दी गई है। थानाध्यक्ष को बहाल कर दिया गया है। हालांकि अभी नए थाने का चार्ज नहीं सौपा गया है।

बता दें कि बीजेपी के इगलास विधायक राजकुमार सहयोगी पार्टी कार्यकर्ता के साथ पिछले माह एक झगड़े के मामले में गोंडा थाने में बातचीत करने पहुंचे थे। इसी दौरान थानाध्यक्ष व विधायक में पहले कहासुनी हुई और देखते ही देखते दोनों में भिड़ंत हो गई। स्थिति हाथापायी तक पहुंच गई। विधायक ने एसओ पर मारपीट कर कपड़े फाड़ने का आरोप लगाया था। मामले को शासन ने गंभीरता से लिया था। थानाध्यक्ष अनुज सैनी को तत्काल प्रभाव से निलंबित करते हुए एसपी ग्रामीण अतुल शर्मा का स्थानांतरण कर दिया गया था। साथ ही मामले की तत्कालीन आईजी दीपक रतन को जांच सौपी गई थी। आईजी ने 24 घंटे से पहले ही जांच रिपोर्ट तैयार कर शासन को भेज दी थी। आईजी की रिपोर्ट शासन में पहुंचने के बाद उस पर मंथन हुआ। रिपोर्ट के आधार पर थानाध्यक्ष को क्लीनचिट देते हुए बहाल कर दिया गया है। हालांकि अभी उनको किसी थाने का चार्ज नहीं दिया गया है। मुनिराज जी., एसएसपी अलीगढ़ ने बताया कि विधायक प्रकरण में गोंडा थाने से निलंबित किये गये एसओ अनुज सैनी को बहाल कर दिया गया है। हालांकि उनको अभी किसी नए थाने का चार्ज नहीं दिया गया है।

सत्यता की हुई जीत : अनुज सैनी

गोंडा थाने के निलंबित एसओ अनुज सैनी ने बहाल होने के बाद खुशी जतायी। उन्होंने कहा कि यह विश्वास व ईमानदारी व सत्यता की जीत हुई है। उन्होंने कहा कि उन्होंने विश्वास था कि उनकी सच्चाई सभी की सामने जरूर आएगी। कहा कि वह हमेशा ईमानदारी से अपना काम करते आए हैं और आगे भी करते रहेंगे।

प्रकरण में सातों विधायक व दोनों सांसद ने उठायी थी आवाज….

विधायक राजकुमार सहयोगी से मारपीट के बाद जिले के सातों विधानसभा के विधायक व दोनों सांसद एसओ व पुलिस कार्यप्रणाली के विरोध में आ खड़े हुए थे। उन्होंने एसओ के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की मांग की थी।