Home आपका शहर चिंतन :समय है अमूल्य हर क्षण घट रहा केवल सद्कर्म में सदुपयोग...

चिंतन :समय है अमूल्य हर क्षण घट रहा केवल सद्कर्म में सदुपयोग करें:ठाकुर संजीव कृष्ण

राधे राधे ॥आज का भगवद चिन्तन ॥
08-01-2021
……✍️✍️✍️
समय मूल्यवान और बहुमूल्य नहीं वह तो अमूल्य है। हमारे पूरे जीवन भर की कमाई भी समय के एक क्षण को नहीं खरीद पायेगी फिर समय का दुरुपयोग किसलिए है ?

व्यस्तता हो अवश्य मगर वह सृजनात्मक, जनात्मक कार्यों में हो, रचनात्मक कार्यों में हो तभी समय का सदुपयोग समझा जायेगा। समय किसी के साथ नहीं चलता। हमें ही इसके साथ चलना पड़ेगा और एक बात समय किसी के लिए रुकता भी नही।

अत:समय अमूल्य है हर क्षण घट रहा ह, यह आज है कल नहीं, अभी है फिर नहीं। इसलिए समय के महत्व को विशेष रूप से समझा जाये और अपने जीवन को अच्छे कार्यों में, श्रेष्ठ कार्यों में लगाया जाये। समय का सदुपयोग बुद्धिमत्ता है और समय का दुरुपयोग बहुत बड़ी मूर्खता।

संजीव कृष्ण ठाकुर जी
समर्पण गौशाला, गोवर्धन