Home उत्तर प्रदेश अलीगढ़ अलीगढ़ – त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के दृष्टिगत जनपद में तैयारियां तेज

अलीगढ़ – त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के दृष्टिगत जनपद में तैयारियां तेज

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के दृष्टिगत जनपद में तैयारियां तेज

 

डीएम की अध्यक्षता में सेक्टर मजिस्ट्रेट के साथ बैठक संपन्न

 

क्षेत्र में भ्रमण कर डीएम को देंगे विभिन्न बिंदुओं पर जानकारियां

          जिला मजिस्ट्रेट चंद्र भूषण सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में त्रिस्तरीय पंचायत निर्वाचन को स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न कराने के लिए सेक्टर मजिस्ट्रेट के साथ बैठक कर उन्हें प्रशिक्षित एवं आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए। डीएम ने कहा कि आयोग के निर्देशानुसार जनपद में एक साथ ही 29 अप्रैल को मतदान कराया जाएगा, जिसके लिए 17 एवं 18 अप्रैल को नामांकन प्रक्रिया को पूर्ण कराया जाना है।

          त्रिस्तरीय पंचायत सामान्य निर्वाचन को स्वतंत्र निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न कराने के लिए जिला मजिस्ट्रेट ने सेक्टर मजिस्ट्रेट को आवश्यक दिशा निर्देश दिए और मास्टर ट्रेनर्स द्वारा आवश्यक प्रशिक्षण प्रदान किया गया। उन्होंने कहा कि सभी सेक्टर मजिस्ट्रेट आयोग द्वारा दिए गए निर्देशों के क्रम में निर्वाचन प्रक्रिया को पूर्ण करेंगे। उन्होंने स्पष्ट किया कि किसी भी अधिकारी कर्मचारी की ड्यूटी कटेगी नहीं। कार्मिक किसी तरह के बहकावे में ना आते हुए पूर्ण निष्ठा, लगन एवं ईमानदारी के साथ ड्यूटी को अंजाम दें, किसी प्रकार की बहानेबाजी उन्हें ड्यूटी करने से बचा नहीं सकती है।

          उन्होंने कहा कि सेक्टर मजिस्ट्रेट अपने अपने क्षेत्रों में भ्रमण कर सामाजिक व भौगोलिक स्थिति का जायजा लें और निर्वाचन प्रक्रिया को किसी भी प्रकार से बाधित करने सम्बन्धी सूचनाओं को एकत्रित कर उपलब्ध कराएं। उन्होंने कहा कि सेक्टर मजिस्ट्रेट द्वारा निर्वाचन प्रक्रिया के संबंध में दिए गए सुझावों पर गंभीरता पूर्वक विचार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि उन्हें विश्वास है कि सभी मजिस्ट्रेट धैर्य,विवेक और बुद्धिमत्ता का प्रयोग करते हुए सौंपे गए दायित्वों एवं जिम्मेदारियों का निर्वहन करेंगे और अपने अपने क्षेत्र में निर्वाचन प्रक्रिया को पूर्ण कराएंगे।

          सीडीओ अंकित खण्डेलवाल ने कहा कि मतदान प्रक्रिया को सकुशल सम्पन्न कराने में सेक्टर मजिस्ट्रेट्स की कार्यकुशलता, दक्षता एवं सजगता की अहम भूमिका होती है। निर्वाचन प्रक्रिया को सकुशल ढ़ंग से सम्पन्न कराने के लिए आवश्यक है कि आयोग द्वारा जारी दिशा निर्देशों के साथ ही क्षेत्र की स्थिति के बारे में समुचित जानकारी हो। उन्होंने कहा कि निर्वाचन प्रक्रिया में मजिस्ट्रेट्स चार चरणों में अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन करते हैं। मजिस्ट्रेट के रूप में नियुक्ति एवं क्षेत्र भ्रमण, मतदान दलों का गठन एवं रवानगी, निर्विघ्न मतदान एवं मतदान सम्पन्न होने के उपरान्त मतपेटिकाओं को स्ट्रांग रूम में जमा कराना उनकी जिम्मेदारी एवं दायित्वों में आता है।

          डीआईओएस डा0 धर्मेन्द्र शर्मा, बीएसए लक्ष्मीकान्त पाण्डेय समेत मास्टर टेªनर्स द्वारा सेक्टर मजिस्ट्रेट्स को सम्पूर्ण निर्वाचन प्रक्रिया के बारे में दो पालियों में प्रशिक्षित किया गया। इस अवसर पर एडीएम विधान जायसवाल, डीपीपाल, राकेश कुमार मालपाणी, राकेश पटेल, सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी कौशल कुमार समेत अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।