Home Blog Page 3

अलीगढ़ : पुलिस द्वारा अपमिश्रित देशी शराब बनाकर बेचने वाले 05 अभियुक्त गाड़ी सहित गिरफ्तार…

अलीगढ़ थाना मडराक: पुलिस द्वारा अपमिश्रित देशी शराब बनाकर बेचने वाले 05 अभियुक्त मय बुलेरो गाड़ी सहित गिरफ्तार
श्रीमान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री मुनिराज जी महोदय के निर्देशन में अपराध की रोकथाम एवं अपराधियों की गिरफ्तारी हेतु चलाये जा रहे अभियान के क्रम में, पुलिस अधीक्षक ग्रामीण श्री अतुल शर्मा के निर्देशन में व क्षेत्राधिकारी इगलास श्री परशुराम सिंह के पर्यवेक्षण एवं थानाध्यक्ष मडराक श्री राजीव कुमार के नेतृत्व में गठित पुलिस टीम द्वारा दिनांक 07/08-08.2020 की रात्रि गस्त के दौरान अभियुक्त 1- राजेश पुत्र वेदप्रकाश तोमर 02- हिमांशु उर्फ़ सोनू पुत्र राजू उर्फ़ प्रदीप कुमार 03- भोला उर्फ़ रवेन्द्र पुत्र दरयाब सिंह निवासीगण ग्राम महुआ थाना इगलास जिला अलीगढ़ 04- वालेश पुत्र मेघसिंह निवासी ग्राम कोठिया थाना मडराक,अलीगढ़ 05-कालिया उर्फ़ हलीम खा पुत्र शौकत अली निवासी ग्राम हस्तपुर थाना इगलास,अलीगढ़ को मय बुलेरो संख्या UP 81AZ 8777 जिसमें 185 पव्वा देशी शराब गुड ईवनिंग मार्का व 29 अदद खाली पव्वा मय ढक्कन देशी शराब गुड ईवनिंग ब्राण्ड ,01 कैन 20 लीटर प्लास्टिक की जिसमें 15 लीटर रेक्टीफाइड स्पिरिट व एक कैन 20 लीटर प्लास्टिक की जिसमें 10 लीटर अपमिश्रित शराब व 05 अदद मोबाइल व 2950 रु० नकद जामा तलाशी के साथ आगरा रोड से ग्राम कोठिया जाने वाले रास्ते से गिरफ्तार किया । अभि0गणों द्वारा पूछने पर बताया कि हम सभी ठेकों से शराब लेकर उसमें रेक्टीफाइड स्पिरिट व रंग व नशे के कैप्सूल मिलाकर काफी मात्रा में अवैध शराब बनाकर उसको पव्वों में पैक कर ऊंचे दामों में गाँव-गाँव में सप्लाई करते है। अभियुक्त राजेश आदि 05 नफर उपरोक्त की गिरफ्तारी व बरामदगी के संबधं में थाना हाजा पर मु0अ0सं0 110/2020 धारा 60/63/72 आबकारी अधिनियम व 272/34 भादवि बनाम राजेश आदि 05 नफर उपरोक्त के पंजीकृत किया गया है।

गिरफ्तार अभि0गण का नाम पत्ता व आपराधिक इतिहासः-
1-राजेश पुत्र वेदप्रकाश तोमर निवासी ग्राम महुआ थाना इगलास,अलीगढ़
• मु0अ0सं0 110/2020 धारा 60/63/72 आबकारी अधिनियम व् 272/34 भादवि
• मु0अ0सं0 257/17 धारा 60 आबकारी अधि0 थाना इगलास अली0
• मु0अ0सं0 663/17 धारा 60 आबकारी अधि0 थाना इगलास अली0
02-हिमांशु उर्फ़ सोनू पुत्र राजू उर्फ़ प्रदीप कुमार निवासी ग्राम महुआ थाना इगलास,अलीगढ़
03-भोला उर्फ़ रवेन्द्र पुत्र दरयाब सिंह निवासी ग्राम महुआ थाना इगलास,अलीगढ़
04-वालेश पुत्र मेघसिंह निवासी ग्राम कोठिया थाना मडराक,अलीगढ़
05-कालिया उर्फ़ हलीम खा पुत्र शौकत अली निवासी ग्राम हस्तपुर थाना इगलास, अलीगढ़

बरामदगी का विवरणः–
01-बुलेरो संख्या UP 81AZ 8777
02-185 पव्वा देशी शराब गुड ईवनिंग ब्राण्ड
03- 29 अदद खाली पव्वा मय ढक्कन देशी शराब गुड ईवनिंग ब्राण्ड ,
04-एक कैन 20 लीटर प्लास्टिक की जिसमे 15 लीटर रेक्टीफाइड स्पिरिट
05-एक कैन 20 लीटर प्लास्टिक की जिसमें 10 लीटर अपमिश्रित शराब
06- 05 अदद मोबाइल जामा तलाशी से
07- 2950 रु० नकद जामा तलाशी से

गिरफ्तार करने वाली टीम –
01-थानाध्यक्ष श्री राजीव कुमार थाना मड़राक, अलीगढ़
02-उ0नि0 श्री नरेन्द्र सिंह थाना मड़राक, अलीगढ़
03-उ0नि0 श्री हरेन्द्र कुमार थाना मडराक, अलीगढ़
04-का0 2159 जयपाल सिंह थाना मडराक, अलीगढ़
05-का०1832 प्रेमवीर सिंह थाना मडराक, अलीगढ़
06-का०1655 सूरज कुमार थाना मडराक, अलीगढ़

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक
अलीगढ़ ।

अलीगढ़: पुलिस द्वारा हत्या का आरोपी 01 नाजायज़ चाकू सहित गिरफ्तार…

अलीगढ़, थाना हरदुआगंज: पुलिस द्वारा हत्या का आरोपी घटना में प्रयुक्त 01 चाकू नाजायज़ सहित किया गिरफ्तार ।

श्रीमान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री मुनिराज जी महोदय द्वारा अपराध की रोकथाम एवं अपराधियों की गिरफ्तारी हेतु चलाये जा रहे अभियान के क्रम में, पुलिस अधीक्षक ग्रामीण श्री अतुल शर्मा के निर्देशन में व क्षेत्राधिकरी अतरौली श्री प्रशान्त सिंह के पर्यवेक्षण में थानाध्यक्ष श्री सन्दीप कुमार के नेतृत्व में गठित पुलिस टीम द्वारा दिनाँक 07/08/2020 को मुखबिर खास की सूचना पर मु0अ0सं0 186/20 धारा 302/323/504 भादवि में वांछित अभियुक्त ओमप्रकाश पुत्र स्व0 श्री राम सनेही निवासी मोहल्ला अबुल फजल कस्बा जलाली थाना हरदुआगंज,अलीगढ को बस स्टैण्ड जलाली से गिरफ्तार किया गया । जिसके कब्जे से एक चाकू (आला कत्ल) बरामद हुआ। जिसके सम्बन्ध में थाना हरदुआगंज पर अभियोग पंजीकृत किया गया ।
गिरफ्तार अभियुक्त का नाम पता व आपराधिक इतिहासः-
ओमप्रकाश पुत्र स्व0 श्री राम सनेही निवासी मोहल्ला अबुल फजल कस्बा जलाली थाना हरदुआगंज, अलीगढ़
• मु0अ0सं0 186/20 धारा 302/323/504 भादवि थाना हरदुआगंज जनपद अलीगढ़
• मु0अ0सं0 190/20 धारा 4/25 आर्म्स एक्ट थाना हरदुआगंज जनपद अलीगढ़

बरामदगी का विवरणः-
01 चाकू नाजायज आला कत्ल

गिरफ्तार करने वाली टीमः-
1. थानाध्यक्ष श्री सन्दीप कुमार थाना हरदुआगंज,अलीगढ़
2. उ0नि0 श्री अजब सिंह थाना हरदुआगंज,अलीगढ़
3. उ0नि0 श्री सत्येन्द्र सिंह थाना हरदुआगंज,अलीगढ़
4. का0 1494 चन्द्र शेखर थाना हरदुआगंज,अलीगढ़
5. का0 1707 कृष्णा सिंह थाना हरदुआगंज,अलीगढ़

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक
अलीगढ़ ।

अलीगढ़: पंचनगरी में अवैध डेयरी संचालकों ने डाला सरकारी कार्य में बाधा…

अलीगढ़ नगर निगम

पंचनगरी में अवैध डेयरी संचालकों पर कार्यवाई। पब्लिक और डेयरी संचालकों ने डाला सरकारी कार्य में बाधा। सिटी मजिस्ट्रेट/अपर नगर मजिस्ट्रेट ने 15 अगस्त तक की दी मोहल्लत। नगर निगम ने कार्यवाई करते हुये 3 डेयरी के तोड़े खूंटे व हौद। बाधा डालने वाले लोगों पर दर्ज कराई एफआईआर। डेयरी हटाने की कार्यवाई में बाधा डालने वालों पर नगर निगम करेगा विधिक कार्यवाई-नगर आयुक्त
माननीय उच्च न्यायालय के आदेशों का शत प्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित कराने के क्रम में प्रयासरत नगर आयुक्त सत्य प्रकाश पटेल के निर्देश पर शनिवार को नगर निगम द्वारा सहायक नगर आयुक्त राज बहादुर सिंह के नेतृत्व में पंचनगरी और सराय हरनारायण में 03 डेयरी के खूंटे व हौद तोड़ने की कार्यवाई की गयी।
पंचनगरी और सराय हरनारायण में कार्यवाई में स्थानीय लोगों और मौके पर पहुॅचे सपा नेता अज्जू इश्हाक व सचिन यादव के उकसावे पर स्थानीय लोगों ने नगर निगम व पुलिस के साथ अभद्रता करते हुये विरोध प्रदर्शन किया। मौके पर नगर निगम के आला अधिकारियों ने पुलिस, जिला प्रशासन व नगर आयुक्त को वस्तुस्थिति से अवगत कराया। मौके पर पहुॅचे सिटी मजिस्ट्रेट विनित कुमार अपर नगर मजिस्ट्रेट रंजीत सिंह ने तत्काल पहुॅचकर स्थिति को नियंत्रण में लेते हुये भीड़ को तितर बितर किया और स्थानीय लोगों व डेंयरी संचालकों की मांग के आधार व दो दिन के लाॅक डाउन को देखते हुये 15 अगस्त, 2020 तक की डेयरी शिफ्ट करने की मोहल्लत दी वही अपर नगर मजिस्ट्रेट रंजीत सिंह ने कहा लॉकडाउन के पश्चात सोमवार से सभी डेयरी संचालक अपनी डेरिया सामान सहित शिफ्ट करेंगे और 15 अगस्त के पश्चात् नगर निगम व जिला प्रशासन डेयरी शिफ्ट करने की कार्यवाई करेगा
सिटी मजिस्ट्रेट विनित कुमार ने कहा मा0उच्च न्यायालय के आदेशों के क्रम में डेयरी संचालकों को अंतिम मोहल्लत दी गयी है स्थानीय पार्षद व प्रधान संयुक्त रूप से डेयरी संचालकों से बात कर डेयरी शिफ्ट करायेगें।। सहायक नगर आयुक्त राजबहादुर सिंह ने बताया माननीय उच्च न्यायालय व एनजीटी के दिशा निर्देशों के अनुपालन में की जा रही सरकारी कार्यवाही में बाधा डालने पर नगर निगम द्वारा 12 लोगों के विरुद्ध प्राथमिक सूचना थाना सासनी गेट में दर्ज कराई गई है।
वही नगर आयुक्त सत्य प्रकाश पटेल ने कहा कि माननीय उच्च न्यायालय के आदेशों का शत प्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित कराया जायेगा डेयरी नगरीय सीमा से बाहर होगी और इस कार्यवाई में बाधा डालने वालों के विरूद्ध भी नगर निगम विधिक रूप से सख्त से सख्त एक्शन लेगा।
पंचनगरी और सराय हरनारायण कार्यवाई में सहायक नगर आयुक्त रोहित सिंह, नगर स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ शिव कुमार, सहायक अभियन्ता सिब्ते हैदर, मुख्य कर निर्धारण अधिकारी विनय कुमार राय, कर निर्धारण अधिकारी आरपी सिंह, जोनल सफाई अधिकारी महेन्द्र सिंह, सह जोनल/कर अधीक्षक राजेन्द्र सिंह, राजेश जैन, राजेश कुमार अजीत कुमार राय, अवर अभियन्ता अमरीश वर्मा, स्वच्छता निरीक्षक अनिल सिंह, आरसी सैनी डाॅ रामजी लाल, वर्कशाॅप सहायक धर्मवीर सिंह, मीडिया सहायक अहसान रब, सैनेटरी सुपरवाइज़र शरद, बबलू कमल, शेखर जीवन थानाध्यक्ष सासनीगेट जावदे अहमद सहित पुलिस बल मौदूर रहा।

यूपी में बिजली की नई दर पर फैसला अब आठ व दस सितंबर को,उपभोक्ताओं से मांगी गईं आपत्तियां…..

लखनऊ,। बिजली कंपनियों द्वारा वार्षिक राजस्व आवश्यक्ता (एआरआर) और बिजली की नई दर निर्धारित करने के लिए नियामक आयोग में दाखिल रिपोर्ट पर अगली सुनवाई अब आठ व दस सितंबर को होगी। उ.प्र. राज्य उपभोक्ता परिषद और अन्य उपभोक्ता प्रतिनिधियों की मांग पर विद्युत नियामक आयोग ने 10 व 13 अगस्त को होने वाली इस सुनवाई की तिथि को आगे बढ़ा दिया है। सुनवाई वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से होगी।

बिजली कंपनियों की वार्षिक राजस्व आवश्यक्ता और बिजली दर पर सुनवाई नियामक आयोग में चल रही है। उपभोक्ता परिषद ने गुरुवार को विद्युत नियामक आयोग में एक जनहित प्रत्यावेदन दाखिल कर सुनवाई की तिथि को आगे बढ़ाने की मांग की थी। आयोग के चेयरमैन आरपी सिंह द्वारा सुनवाई की तिथि को आगे बढ़ाने पर उपभोक्ता परिषद ने आभार जताया है।

परिषद के अध्यक्ष अवधेश कुमार वर्मा ने आयोग में प्रस्तुत अपने प्रत्यावेदन में सुनवाई की तिथि आगे बढ़ाने की मांग की थी। बिजली कंपनियों ने एआरआर व बिजली दर पर आपत्तियां दाखिल करने के लिए उपभोक्ताओं को कम से कम 25 दिन का समय दिया जाना चाहिए। कंपनियों ने समाचार पत्रों में एआरआर के संबंध में विज्ञापन 31 अगस्त को प्रकाशित कराया है और 15 दिन में आपत्तियां मांगी है। ऐसे में सुनवाई की तिथि आगे बढ़ाई जाए ताकि उपभोक्ता अपनी आपत्तियां दाखिल कर सकें।

उत्तर प्रदेश: CM योगी को अयोध्या मस्जिद शिलान्यास के लिए न्योता देगा इंडो इस्लामिक ट्रस्ट…

लखनऊ,। उत्तर प्रदेश सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड द्वारा अयोध्या में मस्जिद तथा अन्य निर्माण के लिए गठित ट्रस्ट उच्चतम न्यायालय के आदेश पर वक्फ बोर्ड को मिली जमीन पर बनने वाली ‘जन सुविधाओं’ के शिलान्यास के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को आमंत्रित करेगा।

‘इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन’ ट्रस्ट के सचिव और प्रवक्ता अतहर हुसैन ने शनिवार को ‘भाषा’ को बताया कि उच्चतम न्यायालय के निर्देश पर अयोध्या जिले के धन्नीपुर गांव में वक्फ बोर्ड को मिली पांच एकड़ जमीन पर अस्पताल, लाइब्रेरी,सामुदायिक रसोईघर और रिसर्च सेंटर बनाया जाएगा। यह सभी चीजें जनता की सुविधा के लिए होंगी और जनता को सहूलियत देने का काम मुख्यमंत्री का होता है। इसी हैसियत से इनके शिलान्यास के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को आमंत्रित किया जाएगा। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि मुख्यमंत्री इस कार्यक्रम में न सिर्फ शिरकत करेंगे, बल्कि इन जन सुविधाओं के निर्माण के लिए सहयोग भी करेंगे।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को एक निजी टीवी चैनल को दिये गये साक्षात्कार में अयोध्या में मस्जिद के शिलान्यास कार्यक्रम में शिरकत किए जाने की संभावना संबंधी सवाल पर कहा था कि ना तो उन्हें बुलाया जाएगा और ना ही वह जाएंगे।

उन्होंने कहा था, ”अगर आप एक मुख्यमंत्री की हैसियत से यह सवाल पूछ रहे है तो मुझे किसी धर्म,मान्यता या समुदाय से कोई परहेज नहीं है लेकिन अगर आप मुझसे एक योगी के रूप में पूछ रहे है तो मैं हरगिज नही जाऊंगा, क्योंकि एक हिन्दू के रूप मुझे अपनी उपासना विधि का पालन करने का अधिकार है।”

मुख्यमंत्री ने कहा था, ” मैं न तो वादी हूं और न ही प्रतिवादी, इसलिये न तो मुझे बुलाया जायेगा और न ही मैं जाऊंगा । मुझे मालूम है कि मुझे इसका निमंत्रण नही मिलेगा इस सवाल पर कि क्या योगी मस्जिद की आधारशिला भी रखेंगे,हुसैन ने कहा कि इस्लाम के सभी चार विचार केंद्रों हनफी,हम्बली,शाफई और मालिकी में से किसी में भी मस्जिद की नींव रखने के लिए कार्यक्रम आयोजित करने का प्रावधान नहीं है, लिहाजा इस सवाल का कोई आधार नहीं बनता।

क्या धन्नीपुर गांव में बनने वाली मस्जिद का नाम ‘बाबरी मस्जिद’ रखा जाएगा,इस सवाल पर ट्रस्ट के सचिव ने कहा कि ऐसा कोई विचार नहीं है और ट्रस्ट द्वारा बनवाई जाने वाली किसी भी इमारत का अभी तक कोई नाम तय नहीं किया गया है।

उन्होंने स्पष्ट करते हुए कहा कि मस्जिद-ए-नबवी और कुछ अन्य गिनी चुनी मस्जिदों को छोड़कर बाकी किसी भी मस्जिद का नाम मायने नहीं रखता। अल्लाह के नजर में मस्जिद में किए गए सजदे ही मायने रखते हैं,बाकी सब बेमानी है।

गौरतलब है कि उच्चतम न्यायालय ने गत 9 नवंबर को अपने फैसले में अयोध्या के विवादित स्थल पर राम मंदिर का निर्माण कराने और उत्तर प्रदेश सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड को मस्जिद के निर्माण के लिए अयोध्या में किसी प्रमुख स्थान पर 5 एकड़ जमीन देने का आदेश जारी किया था।

बोर्ड ने इस जमीन पर मस्जिद के अलावा इंडो इस्लामिक रिसर्च सेंटर,एक अस्पताल,कम्युनिटी किचन,पुस्तकालय और म्यूजियम बनाने का फैसला किया था। इसके लिए इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन नामक ट्रस्ट बनाया गया है जो मस्जिद तथा अन्य इमारतों का निर्माण कराएगा। इसके लिए मुख्यतः जन सहयोग से धन जुटाया जाएगा।

गोरखपुर: 16 साल के लड़के की बेरहमी से हत्‍या,पोखर में मिली लाश….

गोरखपुर,। गोला क्षेत्र के हरपुर गांव में 16 साल के लड़के की बेरहमी से हत्‍या कर लाश को पोखरे में फेंक दिया गया। किशोर के हाथ पीछे बंधे हुए और गर्दन पर चोट के निशान मिले हैं। साफ दिख रहा है कि किसी ने गला कसकर पहले उसे मौत के घाट उतारा फिर लाश को पोखरे में फेंक दिया।

मारे गए लड़के का नाम बलई था। बताया जा रहा है कि उसका गांव की ही एक लड़की से प्रेम सम्‍बन्‍ध था। इस वारदात के पीछे यह एक वजह हो सकती है। बलई रात में खाना खाने के बाद घर से निकला था। देर रात तक घर नहीं लौटने पर घर वालों ने उसकी तलाश की लेकिन कहीं कुछ पता नहीं चला।

पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस का कहना है कि वह वारदात के सभी पहलुओं की जांच कर रही है। जल्‍द ही हत्‍यारों को पकड़ लिया जाएगा।

दिल्ली में ‘ठक-ठक’ गैंग के दो सदस्य गिरफ्तार,1 करोड़ रुपये के गहने बरामद…..

नई दिल्ली,। दिल्ली पुलिस ने ‘ठक-ठक’ गैंग के दो संदिग्ध सदस्यों को गिरफ्तार कर उनके पास से एक करोड़ रुपये मूल्य के गहने बरामद किए हैं। ‘ठक-ठक’ गिरोह के सदस्य लोगों का ध्यान भटका कर उन्हें लूटने के लिए जाने जाते हैं।

अधिकारियों ने कहा कि आरोपियों की पहचान इंद्रपुरी के निवासी संदीप (22) और मदनगीर के रहने वाले संतोष (20) के रूप में की गई है। पुलिस ने बताया कि ‘ठक-ठक’ गिरोह ने देशबंधु गुप्ता रोड पुलिस थानांतर्गत रानी झांसी रोड पर बुधवार को गहने छीनने की वारदात को अंजाम दिया था।

पुलिस ने कहा कि मामले की शिकायत पर घटनास्थल के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगालने के बाद लंबे बालों वाले एक आरोपी की पहचान की गई।

पुलिस उपायुक्त (दक्षिण) अतुल कुमार ठाकुर ने कहा कि पुलिस को वारदात में शामिल दो संदिग्धों के बारे में सूचना मिली थी। इसके बाद पुलिस ने मदनगीर में जाल बिछाकर आरोपियों को पकड़ लिया गया।

डीसीपी ने कहा कि इससे पहले संदीप को 70 लाख रुपये की चोरी की एक वारदात के सिलसिले में गिरफ्तार किया गया था। उन्होंने कहा कि दोनों आरोपी चोरी किए गए गहनों के साथ दिल्ली के बाहर भागने की योजना बना रहे थे।

पुलिस ने कहा कि आरोपियों के पास से एक करोड़ रुपये मूल्य के हीरे के गहने बरामद किए गए हैं। पुलिस ने उसने पूछताछ कर उनके गैंग से जुड़े और सदस्यों की जानकारी जुटाने का प्रयास कर रही है।

सीएम योगी ने जनता को समर्पित किया नोएडा का कोविड अस्पताल,टाटा कंपनी की मदद से बना है ये 420 बेड्स का अस्पताल…..

नोएडा,। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को टाटा कंपनी के सहयोग से नोएडा के सेक्टर-39 में बने 420 बेड्स वाले कोविड-19 अस्पताल का उद्घाटन का उद्घाटन कर जनता को समर्पित कर दिया।

उद्घाटन के बाद मुख्यमंत्री योगी ने अस्पताल के डॉक्टरों से बात कर यहां की सुविधाओं और व्यवस्थाओं के विषय में जानकारी ली और इस नवनिर्मित अस्पताल के सभी वार्डों में घूम-घूमकर बारीकी से एक-एक चीज का जायजा लिया। इस दौरान जिलाधिकारी सुहास एल.वाई.,नोएडा पुलिस कमिश्नर,स्थानीय सांसद महेश शर्मा और और जिले के तमाम विधायक और अधिकारी मौजूद रहे। मुख्यमंत्री के नोएडा आगमन को लेकर जिले में सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद की गई है।

अस्पताल का उद्घाटन करने के बाद मुख्यमंत्री सेक्टर-128 स्थित कोविड-19 के लिए बनाए गए एकीकृत नियंत्रण कक्ष का निरीक्षण करने भी जाएंगे।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नोएडा आगमन के मद्देनजर पुलिस की ओर से पूरे जिले सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। यहां शुक्रवार से दो दिनों के लिए गौतमबुद्ध नगर में किसी भी प्रकार के ड्रोन कैमरों के संचालन पर रोक लगा दी गई है। कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर गौतमबुद्ध नगर में पहले से ही धारा 144 लागू है।

मुख्यमंत्री के दौरे के चलते दिल्ली से लगे गौतमबुद्ध नगर जिले के सभी बॉर्डर सील कर दिए गए हैं। नोएडा पुलिस किसी को बॉर्डर पार नहीं करने दे रही है। इसके कारण बॉर्डर पर वाहनों का लंबा जाम लग गया है और लोग परेशान हो रहे हैं।

पुलिस उपायुक्त (कानून-व्यवस्था) आशुतोष द्विवेदी ने एक आदेश में कहा कि मुख्यमंत्री के जिले के दौरे और धारा 144 के तहत शक्तियों का उपयोग करते हुए मैं आदेश देता हूं कि 7 और 8 अगस्त को गौतमबुद्ध नगर में ड्रोन कैमरों के संचालन पर पूरी तरह से प्रतिबंध रहेगा। उन्होंने कहा कि आदेश का उल्लंघन आईपीसी की धारा 188 (एक सरकारी अधिकारी द्वारा विधिवत आदेश की अवज्ञा) के तहत दंडनीय अपराध होगा।

सुशांत केस में एक और बड़ा खुलासा:रिया तांत्रिक से पूजा-पाठ के अलावा कराती थी सुशांत का इलाज….

पटना,। सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस की जांच अब सीबीआई के हाथ में है,वहीं दूसरी ओर मुख्य आरोपी रिया चक्रवर्ती से ईडी ने पूछताछ शुरू कर दी है। इसके साथ बिहार से जांच को मुंबई गई एसआईटी भी पटना लौट आई है। एसआईटी टीम ने वहां कई लोगों से बयान लिए हैं। इस बयान में कई बड़े खुलासे हुए हैं। पता चला है कि सुशांत के घर में एक तांत्रिक भी आता था तो पूजा-पाठ के अलावा सुशांत का इलाज भी करता था।

महीने में दो-तीन बार आता था तांत्रिक….

कर्मियों ने एसआईटी को इसकी जानकारी दी कि रिया चक्रवर्ती तांत्रिक से भी सुशांत का इलाज कराती थी। सुशांत से यह कहा जाता था कि पूजा पाठ के अलावा तांत्रिक सभी परेशानियों का इलाज करेगा। महीने में दो से तीन बार तांत्रिक घर पर आता था।

रिया और सुशांत की सीडीआर की पड़ताल से सामने आई कई बातें…..

बिहार के लाल अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत और उनकी अभिनेत्री गर्लफ्रेंड के मोबाइल नंबरों की कॉल डिटेल रिकॉर्ड (सीडीआर) की पड़ताल से कई चीजें सामने आई हैं। सियासी और पुलिस महकमे में रिया चक्रवर्ती की पैठ की चर्चा काफी पहले से थी। सूत्रों की मानें तो जब पुलिस टीम ने कॉल डिटेल रिकॉर्ड की पड़ताल की तो पता चला कि रिया की बातचीत मुंबई पुलिस के एक डीसीपी और फिल्म डायरेक्टर महेश भट्ट से होती थी।

सुशांत की मौत के बाद वह लगातार डीसीपी के संपर्क में थी। बीते 21 जून से 18 जुलाई तक रिया पुलिस अफसर के संपर्क में रही। दो बार पुलिस अधिकारी ने खुद ही रिया को कॉल की, जबकि रिया ने भी उन्हें दो बार कॉल की है। पुलिस अधिकारी ने एक बार रिया को मैसेज भी भेजा है। हालांकि शुक्रवार को जब यह नया खुलासा हुआ तो पुलिस अधिकारी ने अपनी सफाई दी और कहा कि सुशांत मामले की जांच के लिए उन्होंने ये कॉल की थी। इसका कोई गलत अर्थ नहीं निकाला जाना चाहिए।

पिठानी ने ऑनलाइन सर्च कर ताला तोड़ने वाले को बुलाया था….

सुशांत के करीबी सिद्धार्थ पिठानी ने उनकी मौत के दिन मोबाइल पर ताला तोड़ने वाले को ऑनलाइन सर्च कर उसे बुलवाया था। इसके बाद सुशांत के फ्लैट का ताला तोड़ा गया और सभी अंदर घुसे। सबसे पहले पिठानी ही सुशांत के कमरे में गया था। इस बात की जानकारी एसआईटी को सुशांत के ही कर्मियों ने दी थी।

पिठानी-रितेश से होगी पूछताछ….

ईडी ने इस मामले में राजपूत के दोस्त सिद्धार्थ पिठानी को भी पूछताछ के लिए समन जारी किया है। पिठानी को शनिवार को पेश होना है। पिठानी एक आईटी पेशेवर है जो सुशांत के साथ उनके कमरे में रह चुका है। बताया जा रहा है कि पिठानी इस समय मुंबई से बाहर है। हालांकि वह मुंबई पुलिस के समक्ष अपना बयान दर्ज करा चुके हैं।

केरल विमान हादसा:लैंड करते ही विमान के उड़े परखच्चे,खौफनाक हादसे में पायलट समेत 20 लोगों की मौत….

नई दिल्ली,। केरल में हुए विमान हादसे ने सभी देशवासियों को झकझोर कर रख दिया है। शुक्रवार को केरल के कोझिकोड में वंदे भारत मिशन के तहत दुबई से 190 लोगों को ला रहा एअर इंडिया एक्सप्रेस का विमान कोझीकोड के कारीपुर एयरपोर्ट पर लैंडिंग के वक्त फिसल गया और फिसलने के बाद विमान एयरपोर्ट से सटी घाटी में करीब 50 फीट गहरी खाई में गिरकर दो हिस्सों में टूट गया। इस घटना में विमान के पायलट समेत 20 लोगों की मौतें हुई हैं, जबकि कई यात्री घायल हुए हैं।

जब इस घटना की तस्वीरें सामने आईं तो मंजर हैरान करने वाला था। विमान में 10 बच्चे और चालक दल के चार सदस्य भी शामिल थे। विमान में 54 ऐसे लोग थे घूमने के लिए दुबई गए थे और कोरोना संक्रमण के कारण वहीं फंसे रह गए थे। 6 लोग वो थे जो मेडिकल कारणों की वजह से और तीन शादी के लिए भारत आ रहे थे। विमान में 26 यात्री ऐसे थे जिनकी नौकरी चली गई थी और 28 ऐसे थे जिनका वीज़ा एक्सपायर हो गया था। हादसे की खबर सुनते ही स्थानीय लोग भी दौड़ पड़े। चारों तरफ एंबुलेंस के सायरन की आवाजें थीं और बच्चों की चीख-पुकार।

केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने बताया है कि इस मामले की जांच AAIB की दो टीमें करेंगी जो घटनास्थल पर पहुंच चुकी हैं। इसके अलावा अपने ताज़ा बयान में एयर इंडिया एक्सप्रेस ने कहा कि मुंबई और दिल्ली से यात्रियों और उनके परिजनों के लिए खास विमानों की व्यवस्था की गई है। सिविल एविएशन मिनिस्ट्री का जांच विभाग एयरक्राफ्ट एक्सीडेंट इन्वेसटिगेशन ब्यूरो (AAIB) इस दुर्घटना की जाच करेंगा।

बचावकर्मियों ने लोगों को बाहर निकाला। इस दौरान चार से पांच साल के छोटे बच्चे बचाव कर्मियों की गोद में चिपके दिखाई दिए और यात्रियों का सारा सामान यहां वहां बिखरा था।

विमान के एकाएक घाटी में गिर जाने से कोझिकोड में चारों ओर चीख-पुकार, खून से सने कपड़े, डरे सहमे रोते हुए बच्चे और एंबुलेंस के सायरन की आवाजों ने इलाके को दहला दिया।

ये विमान लैंड करते वक्त 35 फुट नीचे घाटी में गिरा और इसके दो टुकड़े हो गए।

बचावकर्मियों ने लोगों को बाहर निकाला। इस दौरान चार से पांच साल के छोटे बच्चे बचाव कर्मियों की गोद में चिपके दिखाई दिए और यात्रियों का सारा सामान यहां वहां बिखरा था। तेज आवाज सुन कर स्थानीय लोग भी मदद के लिए दौड़ पड़े। एक स्थानीय व्यक्ति ने कहा कि तेज आवाज सुन कर वह हवाईअड्डे की ओर भागा। उन्होंने कहा,’छोटे बच्चे सीटों के नीचे फंसे हुए थे और यह बेहद दुखद था। बहुत से लोग घायल थे। उनमें से कई की हालत गंभीर थी।’ उन्होंने कहा, ‘पैर टूटे हुए थे…मेरे हाथ और कमीज घायलों के खून से सनी हुई थी।’

मथुरा