Friday, August 6, 2021
Home Blog Page 2

पुलिस/यातायात पुलिस द्वारा काटे गए 584 वाहनों के चालान ।।।

पुलिस/यातायात पुलिस द्वारा काटे गए चालान।     न।          

 

*प्रेस नोट*

आज दिनांक 31-07-2021 को *वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अलीगढ़* के निर्देशन में थाना पुलिस/यातायात पुलिस द्वारा बिना हेलमेट, बिना सीट बेल्ट, तीन सवारी, फॉल्टी नं प्लेट, यातायात के संकेतों का पालन न करने वालों के विरुद्ध अभियान चलाकर निम्नवत कार्यवाही की गयी-

(1)- *बिना हेलमेट* के कारण कुल 445 वाहनों के चालान।
(2)- *बिना सीट बेल्ट* के कारण कुल 17 वाहनों के चालान।
(3)- *फॉल्टी नं प्लेट* के कुल 33 वाहनों के चालान।
(4)- *तीन सवारी* बैठाकर दुपहिया वाहन चलाने वाले कुल 44 वाहनों के चालान।

उपरोक्त के अतिरिक्त थाना पुलिस/यातायात पुलिस द्वारा चलाये गए अभियान में किये गए चालानों सहित अन्य प्रकार के यातायात नियमों का उल्लंघन करने वाले वाहन चालकों के विरुद्ध प्रभावी कार्यवाही करते हुए कुल *584 वाहनों के चालान* तथा ई चालान कार्यालय/ऑनलाइन माध्यम से कुल *₹95,600 शमन शुल्क* वसूल किया।

2.आज दिनांक 31/07/2021 को वाहनों पर लगे अनधिकृत सभी प्रेशर हॉर्न/हूटर/मोडिफाइड साइलेंसर आदि, विशेष रूप से मोटर साइकिल द्वारा *ध्वनि प्रदूषण करने वाले वाहनों के विरुद्ध* अभियान चलाकर ई चालान की कार्यवाही की गई। जिसका विवरण निम्नवत है:-

*यातायात पुलिस द्वारा कृत कार्यवाही:-*
चैक किए गए वाहनों की संख्या:- 85
हूटर/मोडिफाइड साइलेंसर/प्रेशर हॉर्न में किए गए चालान:- 32

*पुलिस अधीक्षक यातायात*
*अलीगढ़*

दो पक्षों में हुआ विवाद,विवाद में गोली लगने से घायल हुआ एक व्यक्ति

दो पक्षों में हुआ विवाद,विवाद में गोली लगने से घायल हुआ एक व्यक्ति.  

 

दो पक्षों में हुआ विवाद,विवाद में गोली लगने से घायल हुआ एक व्यक्ति

शुभम शर्मा की रिपोर्ट

वृंदावन। नयति पुलिस चौकी क्षेत्र में दो पक्षों में विवाद हो गया। जिसमें कई राउंड फायरिंग हुई। विवाद में शमिल एक एक व्यक्ति गोली लगने से घायल हो गया है। घायल को निकट के निजी अस्पताल में भर्ती कराया है। घटना से क्षेत्र में हड़कंप मच गया है। मौके पर पहुंची पुलिस मामले की जांच पड़ताल कर रही है। बताया जा रहा है कि शराब पीकर दो पक्षो में विवाद हो गया था। शनिवार दोपहर को नयति पुलिस चौकी के क्षेत्र स्थित कुंज नगर में दो पक्षो में विवाद हो गया। कुछ ही समय में विवाद ने बड़ा रुप ले लिया। दोनों पक्षों में जमकर लाठी डंडे चले और फायरिंग हुई। इस विवादर में मनोज पुत्र रमेश के गोली लग गई और वह नीचे गिर पड़ा। गोली लगते ही दूसरे पक्ष के लोग घटना स्थल से फरार हो गए। मनोज को परिजन निकट के एक निजी अस्पताल में ले गए। जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। घटना की जानकारी होने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने मामले की जांच पड़ताल शुरु का दी है।
कोतवाली प्रभारी विनोद कुमार का कहना कि नयति क्षेत्र में दो पक्षों में आपस में विवाद हो गया था। जिसमें एक व्यक्ति गोली लगने से घायल हो गया है। जिसे अस्पताल पहुंचाया गया है। दोनों पक्षों में से किसी भी पक्ष से तहरीर नहीं आई है। जांच पड़ताल की जा रही है। आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

अलीगढ़ के नई बस्ती पोखर का मगरमच्छ फिर नजर आया, लोगों ने बनायी वीडियो 😱😱

 

अलीगढ़ के नई बस्ती पोखर का मगरमच्छ फिर नजर आया, लोगों ने बनायी वीडियो 😱😱

इन चीजों को फॉलो किए बिना चेहरे पर नहीं आ सकता परमानेंट नेचुरल ग्लो

 

 

 

 

 

इन चीजों को फॉलो किए बिना चेहरे पर नहीं आ सकता परमानेंट नेचुरल ग्लो

सभी को लगता है कि उनके चेहरे पर कोई दाग-धब्बे न हो, लेकिन चेहरे पर हर बार रौनक होने का मतलब हेल्दी स्किन से नहीं है। ऐसे में अपनी स्किन को खूबसूरत रखने के साथ हेल्दी रखना भी बहुत जरुरी है। हम आपको बताते हैं ऐसे टिप्स, जिन्हें फॉलो करके आप अपनी स्किन को हेल्दी रख सकते हैं-

रोजाना 6-7 गिलास पानी पीना
आपकी स्किन मेकअप से ग्लो कर सकती है लेकिन स्किन पर नेचुरल ग्लो के लिए आपको रोजाना 6-7 गिलास पानी पीना बहुत जरुरी है। पानी पीने से आपकी त्वचा में अंदर से चमक आती है।

फल-सब्जियों का इस्तेमाल
आप फलों का जूस पीने की बजाय फलों का सेवन शुरू कर दें, जिससे आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ने के साथ स्किन की क्वालिटी भी अच्छी हो जाएगी। आप उबली हुई सब्जियां खाएंगे, तो वो आपके लिए ज्यादा असरदायक होगी।

सनस्क्रीन का इस्तेमाल
त्वचा में बाहरी प्रदूषण और सूरज की हानिकारक किरणों से बचाने के लिए अपनी स्किन पर सनस्क्रीन का इस्तेमाल जरुर करें। आप अपनी स्किन के हिसाब से मार्केट से सनस्क्रीन खरीद सकते हैं।

रोजाना वर्कआउट
आप अगर वर्कआउट के लिए ज्यादा टाइम नहीं निकाल पाते, तो भी कोशिश कीजिए कि सुबह सिर्फ 10 मिनट निकालकर हल्का-फुल्का वर्कआउट कर लें। इससे आपकी बॉडी फिट तो रहती ही है, साथ में आपकी स्किन पर भी ग्लो आता है।

वजन बढ़ना हो या आंखों की रोशनी, बच्चों के लिए बेहद फायदेमंद है मक्का, जानें कई फायदे

वजन बढ़ना हो या आंखों की रोशनी, बच्चों के लिए बेहद फायदेमंद है मक्का, जानें कई फायदे

 

वजन बढ़ना हो या आंखों की रोशनी, बच्चों के लिए बेहद फायदेमंद है मक्का, जानें कई फायदे

Corn Benefits For Babies: बच्चों के विकास के लिए भुट्टा बेहद फायदेमंद माना गया है। यह फाइबर, विटामिन, खनिज और एंटीऑक्सिडेंट से समृद्ध अनाज है, जो सेहत से जुड़ी कई समस्याओं को ठीक करने में मदद करता है। शोध के मुताबिक, मक्के में पर्याप्त मात्रा में मौजूद प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट बच्चों के लिए बेहतरीन आहार माना जा सकता है। हालांकि 6 माह से बड़े बच्चे के आहार में पीसकर पका हुआ मक्का शामिल करना चाहिए। आइए जानते हैंबच्चों के विकास के लिए भुट्टा कैसे है बेहद फायदेमंद।

भुट्टे के फायदे-
-जिन बच्चों का वजन कम होता है, उनके आहार में कैलोरी की मात्रा बढ़ाने के लिए मकई का इस्तेमाल कर सकते हैं। एक शोद्य के अनुसार, मकई में कैलोरी और कार्बोहाइड्रेट अधिक मात्रा में पाए जाते हैं, जो शिशु का वजन बढ़ाने में कारगर हो सकते हैं।
-मक्के में कई प्रकार के मिनरल और विटामिन होते हैं, जो शिशु के विकास में सहायक होते हैं।
-बच्चे को पाचन या कब्ज की शिकायत है, तो मकई उसके लिए फायदेमंद साबित हो सकती है। इसमें फाइबर होता है, जो कब्ज से राहत दिला सकता है।
– आंखों और त्वचा के लिए मक्का फायदेमंद हो सकता है। इस बात की जानकारी एनसीबी (National Center For Biotechnology Information) की वेबसाइट पर पब्लिश एक रिसर्च पेपर से मिलती है। शोध के मुताबिक, पीले मक्के के दानों में कैरोटीनोइड नामक पदार्थ मौजूद होता है, जो आंखों की रोशनी के लिए लाभकारी हो सकता है।
-बड़ों के साथ-साथ बच्चों को भी भुट्टे जरूर खाना चाहिए। इससे उनके दांत मजबूत होते हैं।
-भुट्टे खाने के बाद जो भुट्टे का भाग बचता है उसे फेंकें नहीं बल्कि उसे बीच से तोड़कर सूंघें। ऐसा करने से जुकाम में बड़ा फायदा मिलता है।
-कॉर्न विटामिन बी 12, फोलिक एसिड और आयरन से भरपूर होता है। इसे खाने से शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं के उत्पादन में मदद मिलती है। जिससे एनीमिया का खतरा कम होता है। ऐसा करने से बच्चे की दूध पर निर्भरता कम हो जाती है।

नोट-ध्यान रखें, बच्चों के आहार में मक्का सीमित मात्रा ही शामिल करें, कुछ शोध में इस बात की जानकारी मिलती है कि मक्का बच्चों में फ्यूमोनिसिन (fumonisin) नामक विषाक्त बीमारी का कारण भी बन सकता है।

सावधान : गंदा मास्क पहनने से हो सकता है ब्लैक फंगस का खतरा, एम्स में 352 मरीजों पर हुआ अध्ययन

सावधान : गंदा मास्क पहनने से हो सकता है ब्लैक फंगस का खतरा,

 

सावधान : गंदा मास्क पहनने से हो सकता है ब्लैक फंगस का खतरा, एम्स में 352 मरीजों पर हुआ अध्ययन

कोरोना से बचाव के लिए साफ और बेहतर मास्क का इस्तेमाल ब्लैक फंगस (म्यूकोरमाइकोसिस) से भी बचाने में मददगार साबित हो सकता है। एम्स के 352 मरीजों पर हुए ताजा शोध में सामने आया है कि लंबे समय तक कपड़े का मास्क पहनने से गंदगी की वजह से ब्लैक फंगस होने की आशंका अधिक हो जाती है, इसलिए इसे इतने अधिक समय तक पहनने से बचना चाहिए। खासकर ऐसे मरीज जिनकी प्रतिरोध क्षमता कम है उन्हें अधिक सावधान रहने की जरूरत है।

अध्ययन में 152 मरीज ऐसे थे जो कोरोना के साथ ब्लैक फंगस से भी पीड़ित थे, जबकि 200 मरीज ऐसे थे जो सिर्फ कोरोना से संक्रमित थे। शोध के मुताबिक, ब्लैक फंगस से पीड़ित मिले सिर्फ 18 फीसदी मरीजों ने ही एन 95 मास्क का इस्तेमाल किया था। वहीं करीब 43 फीसदी ऐसे मरीजों ने एन 95 मास्क का इस्तेमाल किया था जिन्हें ब्लैक फंगस का संक्रमण नहीं था।

ब्लैक फंगस से पीड़ित 71.2 फीसदी मरीजों ने या तो सर्जिकल या कपड़े के मास्क का इस्तेमाल किया था। इनमें भी 52 फीसदी मरीज कपड़े वाले मास्क का इस्तेमाल कर रहे थे। 10.7 फीसदी मरीजों ने किसी भी मास्क का इस्तेमाल नहीं किया था। जिन कोरोना मरीजों को ब्लैक फंगस नहीं हुआ था उनमें से 42.5 फीसदी मरीजों ने एन 95 और 14.5 फीसदी ने सर्जिकल मास्क का प्रयोग किया था। शोध में पता चला कि गैर ब्लैक फंगस श्रेणी में 36 फीसदी ने कपड़े के मास्क और 7 फीसदी ने किसी मास्क का इस्तेमाल नहीं किया था।

”कपड़े वाले गंदे मास्क का कई बार और देर तक इस्तेमाल करने से म्यूकोरमाइकोसिस का खतरा अधिक हो सकता है। जरूरी हो तो कपड़े के मास्क के नीचे सर्जिकल मास्क पहनें और 6 घंटे के अंदर सर्जिकल मास्क को भी बदल दें या कपड़े के मास्क को साफ कर पहनें।

किन्हें अधिक खतरा :

ब्लैक फंगस के 92 फीसदी मामले ऐसे कोरोना मरीजों में मिले, जिन्हें पहले डायबिटीज था। वहीं गैर म्यूकोरमायोसिस कटैगरी में केवल 28 फीसदी को डायबिटीज था।

स्टेरॉयड का प्रयोग

66 फीसदी ब्लैक फंगस के मरीजों को कोविड इलाज के दौरान स्टेरॉयड दिया गया था। वहीं गैर ब्लैक फंगस वाले मरीजों की संख्या 48 फीसदी रही।

कोरोना काल में बच्चो के व्यवहार से परेशान हैं तो अपनाएं ये टिप्स-

बच्चे के व्यवहार से परेशान हैं तो अपनाएं ये टिप्स-।      

 

Parenting in a Pandemic : कोरोना महामारी की वजह से आजकल बच्चों का सारा समय घर पर ही बीत रहा है। ऑनलाइन क्लास से लेकर दोस्तों से बातचीत और खेल, हर चीज के लिए फोन फर उनकी निर्भरता बढ़ती जा रही है। इसका सीधा असर बच्चों के शारीरिक, मानसिक और भावावेश पर पड़ा है। जिसकी वजह से बच्चे गुस्सैल, दुखी और चिढ़चिढ़े से रहने लगे हैं।

ज्यादातर समय घर में बंद रहने और फोन पर समय बिताने की वजह से बच्चों की लर्निंग पावर कमजोर होने के साथ, भावनात्मक समस्याएं, घर के माहौल का ठीक ना होना, एंग्जायटी, डिप्रेशन, दिमाग में थकावट, नींद पूरी न होना, चिड़चिड़ापन, आदि जैसी परेशानी देखने को मिल रही हैं। ऐसे में माता-पिता का परेशान होना स्वाभाविक है। अगर आप अपने बच्चे के व्यवहार से परेशान हैं तो इन बातों का ध्यान जरूर
रखें।

बच्चे के व्यवहार से परेशान हैं तो अपनाएं ये टिप्स-
बच्चों की बात सुनें –
अगर बच्चा कोई गलत काम कर रहा है या उससे कोई गलती हो गई है तो उसे डांटने या मारने के बजाय, उसकी बात ध्यान से सुनें, उसे समझाएं और उस काम को करने का सही तरीका बताएं। अगर आप बच्चे की गलती पर उस पर चिल्लाएंगे या उसके साथ मारपीट करेंगे तो बच्चा कुछ भी सीखने की जगह आपसे डरने लगेगा, आपसे बातें छिपाने लगेगा और खुद को छोटा महसूस करेगा।

संतुलित आहार –
बच्चों की डाइट का ध्यान रखें। जंक फूड कम करके, बच्चों को पौष्टिक आहार दें। इससे बच्चों की नींद, व्यवहार, मानसिक संतुलन और शारीरिक विकास में सुधार होगा। डाइट में कुछ ऐसी चीजें (जैसे बादाम, फल, हरी सब्ज़ियां, आदि) शामिल करें, जिससे आपके बच्चे का मानसिक विकास हो सके।

बच्चों के तनाव को करें दूर –
बच्चों के जीवन में पढ़ाई,दोस्त या फिर खेलकूद जैसी चीजों को लेकर तनाव हो सकता है। हालांकि हमारे लिए ये तनाव बहुत छोटा है लेकिन बच्चों का जीवन इन्हीं चीजों के आस-पास घुमता रहता है। ऐसे में बच्चों के तनाव को समझें। साथ ही उनका ध्यान दूसरी तरफ लगाएं। उनसे बातचीत करें, उनकी तरफ़ ध्यान दें, उन्हें सपोर्ट करें और उन्हें ऐसा मौहौल दें जिसमें वो अपने दिल की बात आपसे बिना डरे कर सकें।

बच्चों की तारीफ करें –
बच्चों की तारीफ करना बहुत जरूरी है। ऐसा करने से ना केवल उनका आत्मविश्वास बढ़ता है बल्कि उन्हें जीवन में आगे बढ़ने के लिए प्रेरणा भी मिलती है। माता पिता की यह जिम्मेदारी बनती है कि वो छोटी-छोटी चीजों पर अपने बच्चों की तारीफ करें और उन्हें आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करें। ऐसा करने से उनका ध्यान सही दिशा में लगेगा।

बच्चों के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल सीमित करें –
आजकल बच्चों का अधिकतम समय टेक्नॉलजी में ही लगा हुआ है – पढ़ाई, खेल, एंटर्टेन्मेंट, दोस्तों से बातें, सोशल मीडिया, आदि में पूरा दिन निकल जाता है। ऐसे में यह जरूरी हो जाता है के माता-पिता अपने बच्चों के लिए टेक्नॉलजी का प्रयोग थोड़ा सीमित कर दें। उन्हें अच्छी आदतों की अहमियत सिखाएं ताकि उनके शारीरिक, मानसिक और भावावेश पर बुरा प्रभाव ना पड़े।

प्राकृतिक आपदा में शहीद हुए वर्तमान आईटीबीपी के जवान जितेन्द्र सिंह

प्राकृतिक आपदा में शहीद हो गए।              

 

बुलंदशहर :के निवासी जितेंद्र सिंह जो वर्तमान आइटीबीपी में थे उत्तराखंड में आई प्रकृति आपदा में शहीद हो गए उनके पैतृक शरीर को उनके गांव के लिए लाया गया…

ग्राम कनैनी वेदरामपुर ,जिला बुलंदशहर के निवासी जितेंद्र सिंह जो वर्तमान में आइटीबीपी में थे उत्तराखंड में आई प्राकृतिक आपदा में शहीद हो गए आज गांव में उनके पार्थिव शरीर को लाया गया,
पूर्व विधायक गुड्डू पंडित विधानसभा क्षेत्र डिबाई समाजवादी पार्टी

अपने प्राणों की आहुति देने वाले सैनिकों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि “देश हमारे वीर जवानों की वीरता और बलिदान के लिए हमेशा ऋणी रहेगा।” वीर सपूतों का बलिदान आने वाली पीढ़ियों को हमेशा प्रेरणा देता रहेगा,सैनिकों के बलिदान, साहस और समर्पण को कभी भुलाया नहीं जा सकता,जब तक सीमा पर जवान है तभी तक हम घरो में सुरक्षित है।।

मोहित भारद्वाज रिपोर्टर डिस्टिक बुलंदशहर

नाबालिक के साथ लव जिहाद का मामला

नाबालिक के साथ लव जिहाद का मामला*।         

 

*नाबालिक के साथ लव जिहाद का मामला*

अलीगढ।  सरकार द्वारा कानून बनाये जाने पर भी लव जिहाद की घटनाये रुकने का नाम नही ले रही हैं  एक नाबालिक हिन्दू लड़कीं को बुलन्दशहर के वुफरान उर्फ फैज नामक व्यक्ति द्वारा व्हाट्सअप के माध्यम से अलीगढ़ की सराय नवाब की रहने वाली लड़की को अपनी बातों में फंसा लिया गत दिनों से व्हाट्सअप व फोन पर बातचीत शुरू हुई उसके बाद फैज अलीगढ़ आ गया और नाबालिक हिन्दू लड़कीं को अपनी बातों में फंसाकर थाना देहली गेट क्षेत्र के एक रेस्टोरेंट में बुला लिया बात करते करते मुस्लिम युवक फैज द्वारा लड़कीं के साथ अश्लील बातें करना शुरू कर दिया तो लड़कीं को असहज लगा लड़की ने विरोध किया तो वहां आसपास के लोग इकट्ठा हो गए लव जिहाद का मामला होने पर कुछ लोगो द्वारा भाजपा नेता एडवोकेट संजू बजाज को सूचना दी गई कुछ ही देर में भाजपा नेता कार्यकर्ताओ के साथ मौके पर पहुंच गए साथ ही थाना देहली गेट पुलिस को सूचना दी गई पुलिस आरोपी व नाबालिक हिन्दू लड़के को थाना लेकर गई साथ ही भाजपा महानगर मंत्री एडवोकेट संजू बजाज ,पूर्व मेयर शकुंतला भारती,कृष्णा गुप्ता मण्डल अध्यक्ष, संजय शर्मा, विशाल देशभक्त, हर्षद हिन्दू पवन शर्मा सहित दर्जनों भाजपाई थाना पहुंच गए जहां से लड़कीं के परिजनों को सूचना देकर थाना बुला लिया गया लड़कीं कि माँ की ओर से तहरीर देकर मुकदमा दर्ज कराने की मांग होने लगी एसएचओ प्रमेन्द्र व सीओ राघवेंद्र के मुकदमा दर्ज कर आरोपी को जेल भेजने के आश्वाशन पर भाजपाई शांत हुए।
भाजपा महानगर मंत्री एडवोकेट संजू बजाज का कहना है कि कुछ जिहादी मानसिकता के मुस्लिम युवक नाबालिक हिन्दू लड़कियों को अपने जाल में फंसाकर उनकी जिंदगी खराब करने का एक एजेंडा चला रहे हैं जिसका विरोध हमेशा से ही हम लोग करते आ रहे हैं और ऐसे लोगो के खिलाफ कठोर कार्यवाही कराने को लेकर निरन्तर प्रयास चल रहा है हम लोग किसी भी कीमत पर लव जिहाद बर्दास्त नही करेंगे किसी हिन्दू बेटी का जीवन बर्बाद नही होने देंगे।
हर्षद हिन्दू ने कहा कि हम अपनी बहन बेटियों की इज्जत बचाने के लिये किसी भी हद तक जाना पड़े तो पीछे नही हटेंगे।
पूर्व मेयर शकुंतला भारती ने कहा है कि निरन्तर ऐसे मामले संज्ञान में आ रहे हैं ऐसे लोगो पर नकेल कसने के लिये उच्चाधिकारियों से बात की जाएगी जिससे ऐसी घटनाओं की रोकथाम हो सके ।
भाजपा नेत्री कृष्णा गुप्ता ने कहा है कि हम अपनी हिन्दू बेटीयो को इन जिहादियो से बचाने के लिये अभियान चलाएंगे जिसके तहत बेटीयो का समझाया जाएगा कि वह ऐसे लोगो से दूरियां बनाये रखे।
इस मौके पर संजू बजाज शकुंतला भारती कृष्णा गुप्ता पवन शर्मा संजय शर्मा  हर्षद हिन्दू गोवर्धन सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

*अलीगढ़ से अक्षय गुप्ता की रिपोर्ट

पति की मृत्यु के बाद ससुराल वालों ने दो बच्चों की मां को निकाला घर से बाहर।

पति की मृत्यु के बाद ससुराल वालों ने दो बच्चों की मां को निकाला घर से बाहर।

 

पति की मृत्यु के बाद ससुराल वालों ने दो बच्चों की मां को निकाला घर से बाहर।

योगिता गुप्ता पत्नी स्वर्गीय मोनू गुप्ता निवासी थाना छर्रा जिला अलीगढ़ के निवासी है जहां योगिता गुप्ता की ससुराल है योगिता गुप्ता के दो बच्चे भी हैं जो कि इनके के ससुर सत्य प्रकाश गुप्ता पुत्र बाबूराम गुप्ता जेठ सतीश गुप्ता व सोनू गुप्ता ने संपत्ति अपने नाम कराना चाहते हैं जो कि योगिता गुप्ता के दो बच्चे हैं उन्हें घर से बाहर निकालना चाहते हैं सतीश और सोनू (जेठ) योगिता गुप्ता के साथ गाली गलौज व अश्लील हरकतों बत्तमीजी से पेश आते हैं योगिता गुप्ता ने ज्ञापन देते हुए कहा कि उपर्युक्त विपक्षीगढ़ व परिवार वालों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही करने की अपील एसएसपी को दी है जिससे प्रार्थी व प्रार्थी के बच्चों को इंसाफ दिलाया जा सके

मथुरा